लिट्टी चोखा रेसिपी | Litti Chokha Recipe In Hindi

लिट्टी चोखा की उत्पत्ति और इतिहास/Litti Chokha History

अपने देहाती स्वाद के लिए जाने जाने वाले लिट्टी चोखा की उत्पत्ति सदियों पहले दक्षिणी बिहार के एक प्राचीन राज्य मगध के दरबार में हुई थी। बाद में, यह मुगलों द्वारा सबसे अधिक पसंद किए जाने वाले व्यंजनों में से एक बन गया और इसमें कुछ बदलाव भी हुए। वे अनोखी लिट्टी का स्वाद शोरबा और पायस के साथ लिया करते थे।

लिट्टी चोखा

भारत में ब्रिटिश शासन के दौरान इसे और अधिक प्रसिद्धि मिली। अंग्रेजों ने करी के साथ लिट्टी को तरजीह दी। ऐसा कहा जाता है कि 1857 के महान विद्रोह के दौरान, जिसे स्वतंत्रता का पहला युद्ध भी कहा जाता है, सिपाही लिट्टी पर जीवित रहे क्योंकि इसे बिना किसी बर्तन और ज्यादा पानी के बनाना आसान था। इसके अलावा, लिट्टी लगभग 3 दिनों तक ताज़ा रह सकती है। वर्तमान समय में, लिट्टी चोखा न केवल बिहार में बल्कि विश्व स्तर पर अत्यधिक प्रमुखता देखा गया है। यदि आप प्रामाणिक लिट्टी चोखा का स्वाद लेना चाहते हैं, तो आपको बिहार की यात्रा अवश्य करनी चाहिए।

लिट्टी चोखा कैसे बनायें?

लिट्टी चोखा सबसे लोकप्रिय बिहारी व्यंजन है जिसका स्वाद अनोखा होता है। यह अपने आप में एक पौष्टिक आहार माना जाता है। पूरे गेहूं के आटे और सत्तू से बनी लिट्टी एक लंबी यात्रा से गुजरी है। प्रारंभ में, इसे गरीब आदमी का भोजन माना जाता था क्योंकि लिट्टी आसानी से उपलब्ध थी और बनाने में भी किफायती थी। यह साधारण बिहारी व्यंजन बिना गैस या तंदूर के भी बनाया जा सकता है। यहां तक ​​कि किसान इसे खेतों में भी तैयार कर सकते हैं। आप इसे न केवल बैंगन का चोखा बल्कि घुग्निस, मटन या चाट मसाला के साथ भी परोस सकते हैं।

तैयारी का समय : 10 से 15 मिनट
पकाने का समय : 20 से 25 मिनट
कुल समय : लगभग आधा घंटा

लिट्टी चोखा बनाने के लिए सामग्री

सामग्रीमात्रा
कम पिसा गेहूँ का आटा1 ½ कप
दलीया1/2 कप
नमकस्वादानुसार
सरसों तेल3 बड़ा चम्मच
सत्तू1/2 कप
प्याज2 से 3 बारीक कटी
हरी मिर्च4 बारीक कटी
अदरक2 इंच कटा हुआ
लहसुन8 से 10 कली
धनिया2 बड़ा चम्मच बारीक कटा
अचार का मसाला1 बड़ा चम्मच
बैंगन1 भुना
टमाटर4 मध्यम आकार भुने हुए
आलू2 मध्यम आकार भुने हुए
देशी घी1 कप

लिट्टी चोखा बनाने की विधि

चोखा बनाने की विधि
  • सबसे पहले एक बैंगन में चाकू की सहायता से 2 या 3 छेद करकर उनमें लहसुन की कलियाँ डाल दें।
  • जलते हुए कांडों की आग में बैंगन, आलू और टमाटर पर थोड़ा-थोड़ा देशी घी लगाकर (ताकि छिलका अच्छे से उतर जाये) अच्छी तरह भून जाने तक रख दें।
  • भुने हुए आलू, बैंगन, टमाटर को ठंडा हो जाने पर उनका छिलका उतार कर बारीक कर लें।
  • बारीक किये हुए बैंगन, आलू, टमाटर, कटा हुआ धनिया, अदरक, लहसुन, हरीमिर्च, नमक स्वादानुसार, सरसों का तेल सभी को डालकर अच्छी तरह मिला लें।
  • अब आपका चोखा बनकर तैयार है।
लिट्टी का आटा गूँधने की विधि
  • एक परात में कम पिसा आटा, दलीया और स्वादानुसार नमक तथा पानी डालकर मुलायम आटा गूँध लें।
  • अब इसमें थोड़ा तेल डालकर आटे को फिर से गूँध लें।
  • अब इसे थोड़ी देर के लिए गीले कपड़े से ढककर रख दें।
लिट्टी बनाने की विधि
  • एक परात में सत्तू, 1 बारीक कटी हुयी प्याज, 2 से 3 हरीमिर्च, 1 इंच बारीक कटा हुआ अदरक, 2 से 3 लहसुन की कली, एक बड़ा चम्मच सरसों का तेल, अचार का मसाला और स्वादानुसार नमक डाल दें।
  • अब सभी को अच्छी तरह मिला लें और एक तरफ रख दें।
  • अब गूँधे हुए आटे की लोई बनाकर बेल लें और एक चम्मच ऊपर मिक्स करी हुयी सामग्री (Stuffing) को भरकर बॉल बनाकर सूती कपड़े से ढककर रखते जाएँ। जिससे की आटा सूखे न।
  • अब एक चूल्हे में गोबर के कंडे (उपलों) की आग में या ओवन में लिट्टियों को भुनने के लिए रख दें।
  • जब लिट्टियाँ अच्छी तरह भून जाएँ तब किसी कपड़े की सहायता से उपले की राख साफ करकर गरम-गरम लिट्टियों को देशी घी में 5 मिनट के लिए डुबो दें।

लिट्टी चोखा बनाने की विधि (चित्र सहित)

चोखा बनाने की विधि (चित्र सहित)
  • सबसे पहले एक बैंगन में चाकू की सहायता से 2 या 3 छेद करकर उनमें लहसुन की कलियाँ डाल दें।
लिट्टी चोखा
  • जलते हुए कंडों की आग में बैंगन, आलू और टमाटर पर थोड़ा-थोड़ा देशी घी लगाकर (ताकि छिलका अच्छे से उतर जाये) अच्छी तरह भून जाने तक रख दें।
लिट्टी चोखा
  • भुने हुए आलू, बैंगन, टमाटर को ठंडा हो जाने पर उनका छिलका उतार कर बारीक कर लें।
लिट्टी चोखा
  • बारीक किये हुए बैंगन, आलू, टमाटर, कटा हुआ धनिया, अदरक, लहसुन, हरीमिर्च, नमक स्वादानुसार, सरसों का तेल सभी को डालकर अच्छी तरह मिला लें। अब आपका चोखा बनकर तैयार है।
लिट्टी चोखा
लिट्टी बनाने की विधि (चित्र सहित)
  • एक परात में सत्तू, 1 बारीक कटी हुयी प्याज, 2 से 3 हरीमिर्च, 1 इंच बारीक कटा हुआ अदरक, 2 से 3 लहसुन की कली, एक बड़ा चम्मच सरसों का तेल, अचार का मसाला और स्वादानुसार नमक डाल दें। अब सभी को अच्छी तरह मिला लें और एक तरफ रख दें।
लिट्टी चोखा
  • अब गूँधे हुए आटे की लोई बनाकर बेल लें और एक चम्मच ऊपर मिक्स करी हुयी सामग्री (Stuffing) को भरकर बॉल बनाकर सूती कपड़े से ढककर रखते जाएँ। जिससे की आटा सूखे न।
लिट्टी चोखा
  • अब एक चूल्हे में गोबर के कंडे (उपलों) की आग में या ओवन में लिट्टियों को भुनने के लिए रख दें।
लिट्टी चोखा
  • जब लिट्टियाँ अच्छी तरह भून जाएँ तब किसी कपड़े की सहायता से उपले की राख साफ करकर गरम-गरम लिट्टियों को देशी घी में 5 मिनट के लिए डुबो दें।
लिट्टी चोखा
Litti Chokha Recipe Video

इसे भी पढ़ें : लिट्टी चोखा रेसिपी

इसे भी पढ़ें : तिल गुड़ लड्डू रेसिपी इन हिन्दी

टिप्स

  • मोटे आटे का प्रयोग करें।
  • चोखे में गाढ़ापन लाने के लिए भुने हुए आलू डाल दीजिए
  • जब भी संभव हो गाय के गोबर के उपलों का उपयोग करें या अगर ओवन में पका रहे हैं तो आटे में 1 छोटा चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं।
  • अच्छी गुणवत्ता और स्वाद के अचार का प्रयोग करें।
  • लिट्टी भिगोने के लिए अच्छी मात्रा में घी का इस्तेमाल करें।

FAQ’s

Q-1. लिट्टी चोखा का दूसरा नाम क्या है?
Ans. लिट्टी चोखा को बाटी चोखा भी कहते हैं।

Q-2. लिट्टी चोखा खाने से क्या फायदा होता है?
Ans. लिट्टी चोखा गर्मियों में लू से बचाता है, कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है, शुगर के मरीजों के लिए पौष्टिक आहार है।

Q-3. लिट्टी चोखा कहाँ का फेमस है?
Ans. लिट्टी चोखा बिहार का एक लोकप्रिय प्रसिद्द व्यंजन है।

Q-4. बिहार में लिट्टी चोखा क्यों प्रसिद्ध है?
Ans. क्योंकि यह खाने में हल्का होता है और जल्दी खराब नहीं होता तथा बिना बर्तनों के आसानी से बन जाता है। इसी कारण से 1857 के विद्रोह के समय सैनिकों ने लिट्टी चोखा का प्रयोग किया था।

Q-5. लिट्टी चोखा का मतलब क्या होता है?
Ans. लिट्टी चोखा बिहार और उत्तर प्रदेश का एक लोकप्रिय भोजन है। जोकि आसानी से बनाया जा सकता है।

Q-6. भारत का राष्ट्रीय भोजन कौन सा है?
Ans. खिचड़ी भारत का राष्ट्रीय भोजन है क्योंकि इसे भारत के सभी राज्यों में सभी लोगों द्वारा पसंद किया जाता है। यह कम खर्च में आसानी से बनाया जा सकता है।

5/5 - (5 votes)

Leave a Comment